6/18/2007

अमेरिकन रेडियो से मानस का सीधा प्रसारण




भारत के चौंथे साहित्यकार बने जयप्रकाश



रायपुर । 18 जून । छत्तीसगढ़ के युवा साहित्यकार और हिंदी इंटरनेट में सक्रिय शिक्षाविद् जयप्रकाश मानस को आज अमेरिका की सुप्रसिद्ध आकाशवाणी चैनल ‘रेडियो सलाम नमस्ते’ ने प्रसारित किया । डेलास शहर से संचालित और 24 घंटे निरंतर प्रसारण के लिए विख्यात इस अंतरराष्ट्रीय चैनल से सीधा प्रसारित होने वाले श्री मानस चौंथें साहित्यकार हैं । अब तक केवल 3 साहित्यकार एवं हिंदी सेवियों का सीधा प्रसारण चर्चित और अमेरिका में लोकप्रिय कार्यक्रम ‘काव्यांजलि ’में हुआ है । श्री मानस चौंथे साहित्यकार हैं जिनसे रेडियो सलाम नमस्ते ने हिदीं के वर्तमान, वैश्वीकरण के प्रभाव, हिंदी शिक्षा, इंटरनेट और हिंदी का बढ़ता प्रभाव, विदेशों में विशेष रूप से चर्चित वेब पत्रिका सृजनगाथा डॉट कॉम व ऑनलाइन एवं इंटरनेट प्रौद्योगिकी पर विस्तृत चर्चा की और इसका सीधा प्रसारण किया।

ज्ञातव्य हो कि यह ऑनलाइन प्रसारण आज भारतीय समय अनुसार प्रातः 7.30 बजे से 8.00 बजे तक किया गया । रेडियो सलाम नमस्ते अंग्रेजी के अलावा कई भारतीय भाषाओं में प्रसारित होता है । यह रेडियो 104.9 एफ.एम पर प्रसारित होता है जिसे इंटरनेट पर भी http://www.radiasalaamnamste.com/ पर भी नियमित रूप से ऑनलाइन प्रसारित किया जाता है । रेडियो स्टूडियो में श्री मानस से साक्षात्कार हेतु अमेरिका के जाने-माने हिंदी विशेषज्ञ श्री आदित्य प्रताप सिंह व तकनीक विशेषज्ञ डॉ. नंदलाल सिंह विशेष रूप से उपस्थित थे । इस महत्वपूर्ण प्रसारण को संबंधित वेबसाइट पर यथासमय दोबारा सुना जा सकता है ।
श्री राम पटवा ने अपनी विज्ञप्ति में बताया है कि हिंदी साहित्य एवं भाषा तता छत्तीसगढ़ की साहित्यिक और सांस्कृतिक वैभव को अंतरराष्ट्रीय क्षितिज पर प्रतिष्ठित करने के उद्यम में लगे श्री मानस की इस उपलब्धि पर राष्ट्रभाषा प्रचार समिति, मीडिया कांग्रेस, सृजन-सम्मान, वैभव प्रकाशन, लोकमान्य सद्भावना समिति मिनी माता फाउंडेशन, गुरुघासी दास साहित्य अकादमी आदि के सभी सदस्यों ने उन्हें बधाई दी है ।


0राम पटवा
प्रकाशन अधिकारी
संस्कृति विभाग छत्तीसगढ़ शासन
रायपुर, छत्तीसगढ़

4 टिप्‍पणियां:

Sanjeeva Tiwari ने कहा…

अमेरिका मे हमारे छत्तीसगढ का साहित्यकार डंका बजा आया , अरे क्या बात । मानश जी को बधाई

राजीव रंजन प्रसाद ने कहा…

मानस जी बधाई आपको।

*** राजीव रंजन प्रसाद

Shrish ने कहा…

बहुत बधाई आपको मानस जी।

सलाम नमस्ते फिल्म में इस रेडियो का नाम सुना था तो हमने इसे काल्पनिक समझा था। आपकी पोस्ट से ही पता चला कि इस नाम का असल में भी कोई रेडियो है।

Sanjeet Tripathi ने कहा…

बधाई!!!